चाय के साथ-साथ कुछ कवितायें भी हो जाये तो क्या कहने...

Tuesday, March 26, 2013

हुये तुम मेरे मै तुम्हारी होली…


होली मुबारक हो आप सभी को...

रंगों की होली सजायें रगोंली
हुये तुम मेरे मै तुम्हारी होली…

आओ मिटा दें दूरियाँ दिलों से
ज़िंदगी सजा दें आज रंगों से
भुला दें गिले-शिकवे सारे औ’
रंगों की होली सजायें रगोंली
हुये तुम मेरे मै तुम्हारी होली…

ज़िंदगी की बाज़ी लगा दी मगर
न हम हारे न तुम जीत पाये
चलो आज कहना ये मेरा मानों
छोड़ के नफ़रतों की दुनियाँ औ’
खुशी के रंगों से सजायें रंगोली
हुये तुम मेरे मै तुम्हारी होली…

5 comments:

  1. वाह वाह चोखी होली,
    होली घणी घणी बधाई।

    ReplyDelete
  2. आओ मिटा दें दूरियाँ दिलों से
    ज़िंदगी सजा दें आज रंगों से
    भुला दें गिले-शिकवे सारे औ’
    रंगों की होली सजायें रगोंली
    हुये तुम मेरे मै तुम्हारी होली…
    .बहुत सुन्दर भावनात्मक प्रस्तुति . आपको होली की हार्दिक शुभकामनायें होली की शुभकामनायें तभी जब होली ऐसे मनाएं .महिला ब्लोगर्स के लिए एक नयी सौगात आज ही जुड़ें WOMAN ABOUT MAN

    ReplyDelete
  3. रंगोत्सव की आपको और आपके परिवार को बहुत-बहुत शुभकामनाएं...

    जय हिंद...

    ReplyDelete
  4. रंग बिरंगे इस पावन पर्व पर आपको परिवार सहित होली की शुभकामनाएँ
    Gyan Darpan

    ReplyDelete
  5. खुशी के रंगों से सजायें रंगोली
    हुये तुम मेरे मै तुम्हारी होली…

    bahut sundar:-)

    ReplyDelete

स्वागत है आपका...