चाय के साथ-साथ कुछ कवितायें भी हो जाये तो क्या कहने...

Monday, December 31, 2007

हैप्पी न्यू ईयर एक हॉस्य-कविता

हमने कहा जानेमन,हैप्पी न्यू ईयर...
हँसकर बोले वो,सेम टू यू माई डियर॥

पर पहले बस इतना बतलाओ,
आज नया क्या है समझाओ...

नये साल पर ही करती हो,मीठी-मीठी बातें...
चलो रहने दो हमको चूना मत लगाओ॥

कब मिली है हमको बिरयानी
अपनी तो वही रोटी और दाल है
सब कुछ तो है वही पुराना,
फ़िर भी कहती हो नया साल है॥

अच्छा छोडो़ बेकार की बातें
कुछ बात करो क्लीयर,
तुम भी मनाऒ जश्न अपना
क्या हमें भी लेने दोगी बीयर॥



नये साल का जश्न
कुछ ऎसा हम मनायें
भूल कर सारे गिले-शिकवे
पडौसन को भी बुलायें॥

बीयर तक तो श्रीमान की
बात समझ में आई
मगर पडौसन को बुलाने की
कैसी शर्त लगाई?

फ़िर भी दिल पर काबू करके
पोंछे हमने टियर्स,
देकर हाथ में चाय का प्याला
बोले उनको चियर्स॥



रहने दो जश्न नये साल का
हमे महंगा बहुत पड़ेगा
एक जश्न की खातिर तुमको
ऑवर टाईम करना पड़ेगा॥

फ़िर भी आज घर मॆ
सत्यनारायण पूजा हम करवायेंगे
पडौस वाली तुम्हारी बहन को
चाय भी जरूर हम पिलायेंगे



नही मनाना हमे नया साल
रहने दो डियर
टकरायेंगे चाय के प्याले
और कहेंगे चियर्स...



सुनीता(शानू)

नववर्ष आप सब की जिंदगी को सात रगों से सजायें
सात सुरों
की सरगम सा ये जीवन महक-महक जाये...

17 comments:

  1. नए साल में आप और भी अधिक ऊर्जा और कल्पनाशीलता के साथ ब्लॉगलेखन में जुटें, शुभकामनाएँ.

    www.tooteehueebikhreehuee.blogspot.com
    ramrotiaaloo@gmail.com

    ReplyDelete
  2. शुभकामनाओं का यह नया अंदाज पसंद आया. नया वर्ष आपको भी मंगलमय हो. इसी तरह पाठकों को हंसाती रहें यही कामना हैं.

    ReplyDelete
  3. नया वर्ष आपके लिए शुभ और मंगलमय हो।

    ReplyDelete
  4. बहुत खूब.... आपको भी हैप्पी न्यू ईयर.. :)

    ReplyDelete
  5. आपको नए साल की शुभकामनएं आपका नया साल खुशियों से भरा रहे और कविता में आप नई ऊंचाइयों को छुंए ।

    ReplyDelete
  6. बहुत समझदार हॆं आप,जो पडोसन को चाय पर नहीं बुलवाया,
    नये साल पर नया रिस्क नहीं उठाया
    चाय के प्याले टकराकर ही कर दी चियर्स
    हमारी तरह से,आपके समस्त परिवार को भी
    ’हॆप्पी न्यू ईयर’.
    वॆसे भी-हम तो यही कहेंगें-
    रोटी-दाल मंहगी हुई,सस्ती विस्की,रम ऒर बीयर
    आप भी कहो,हम भी कहें-’हॆप्पी न्यू ईयर’.

    ReplyDelete
  7. बढ़िया!!
    नया साल आपको पहले से बेहतर बहुत कुछ दे जाए!!
    नए साल की शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  8. बढ़िया !
    नववर्ष की शुभकामनाएँ ।
    घुघूती बासूती

    ReplyDelete
  9. bahot bahot acchi rachan

    ReplyDelete
  10. बहुत सुन्दर...
    आपको भी नया सा मुबारक हो .........

    ReplyDelete
  11. wah wah!
    bahut badeeya sunita ji.
    ye rang bhi khuub hai!
    naye saal ki muskrati badhayee aap ko bhi.:)
    aap ka blog bahut pasand aaya.

    -Alpana

    ReplyDelete
  12. आपके सफल ब्लॉग के लिए साधुवाद!
    हिंदी भाषा-विद एवं साहित्य-साधकों का ब्लॉग में स्वागत है.....
    कृपया अपनी राय दर्ज कीजिए.....
    टिपण्णी/सदस्यता के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें....
    http://pgnaman.blogspot.com
    हरियाणवी बोली के साहित्य-साधक अपनी टिपण्णी/सदस्यता के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें....
    http://haryanaaurharyanavi.blogspot.com

    ReplyDelete
  13. नववर्ष आप सब की जिंदगी को सात रगों से सजायें
    सात सुरों की सरगम सा ये जीवन महक-महक जाये...

    आज तो आनन्द आ गया शानू जी.
    पहले आपकी हलचल और फिर यह पोस्ट.

    वाह वाह वाह जी.

    नववर्ष आपके व आपके परिवार के लिए
    नित नयी खुशहाली लाये.

    आभार.

    ReplyDelete
  14. नव वर्ष 2012 की हार्दिक शुभ कामनाएँ।

    सादर

    ReplyDelete
  15. बहूत सुंदर रंग बिरंगी रचना है...
    नववर्ष कि शुभकामनाये

    ReplyDelete

स्वागत है आपका...